पिता लालू के नक्शेकदम पर चल रहे, 1990 का दौर वापस लाएंगे? नीतीश के मंत्री विजय सिन्हा का तेजस्वी पर आरोप

पिता लालू के नक्शेकदम पर चल रहे, 1990 का दौर वापस लाएंगे? नीतीश के मंत्री विजय सिन्हा का तेजस्वी पर आरोप

ऐप पर पढ़ें

Vijay Sinha Tejaswi Yadav: नीतीश सरकार के उपमुख्यमंत्री विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि आजकल तेजस्वी यादव धमकी भरे बयान दे रहे हैं। अधिकारियों और प्रशासन से जुड़े लोगों को धमकाना उनकी सोच और संस्कार को दिखाता है। असंतुलित बयानबाजी से पहले उन्हें सोचना चाहिए कि वे विधानसभा में विरोधी दल के नेता हैं। गैर जिम्मेदाराना बयान से बाज आएं। उन्होंने आरोप लगाया कि तेजस्वी यादव पिता के नक्शेकदम पर चल रहे हैं। उन्होंने नेता प्रतिपक्ष पर कई गंभीर आरोप लगाए।

पटना में पत्रकारों से उपमुख्यमंत्री ने कहा कि जनता ने देखा है कि जब जब ये लोग सरकार में रहे हैं तब सत्तापोषित अराजक तत्त्वों ने शासन के दुरुपयोग से लेकर अपराध, अपहरण और आतंक का कैसा खुला प्रदर्शन किया है। जब ये लोग सत्ता से बाहर रहते हैं तब भी अपराधियों और जालसाजों के ढाल बनकर उन्हें प्रोत्साहित करते हैं। तेजस्वी यादव को अपने पिता के नक्शेकदम पर चलते हुए 1990 के दशक की तर्ज पर लोगों को या अधिकारियों को डराने-धमकाने से बाज आना चाहिए। ये 2024 का बिहार है जो विकसित होने का संकल्प लेकर आगे बढ़ चुका है। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि तेजस्वी को यदि अपनी राजनीतिक जमीन बचानी है तो रचनात्मक राजनीति के रास्ते पर चलने का प्रयास करना चाहिए। अन्यथा आगामी विधानसभा चुनाव में उनकी और उनकी पार्टी की हालत बीते लोकसभा चुनाव से भी बुरी हो जाएगी।

अब एक्साइज दारोगा परीक्षा का पेपर लीक? पटना में प्रश्नपत्र की फोटो ले रहा अभ्यर्थी गिरफ्तार, सेंटर पर कैसे लाया मोबाइल

जांच में पकड़े जाएंगे गुनहगार 

इधर भाजपा विधायक व यूपी के सह प्रभारी डॉ. संजीव चौरसिया ने कहा कि नीट मामले की सीबीआई जांच से परीक्षा माफिया और सॉल्वर गिरोह का देशव्यापी नेटवर्क ध्वस्त होगा। पर्चा लीक करने वाले असली गुनहगार जल्द ही सलाखों के पीछे दिखेंगे। रविवार को जारी बयान में भाजपा नेता ने कहा कि केंद्र और बिहार सरकार न किसी निर्दोष को ़फंसाएगी और न ही किसी दोषी को बचाएगी। लाखों बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ करने वालों को कड़ी से कड़ी सजा दी जानी चाहिए ताकि भविष्य में वे ऐसी हरकत करने की जुर्रत न कर सकें। शिक्षा मंत्रालय आगे की परीक्षाओं में गड़बड़ी रोकने व पारदर्शिता लाने में जुट गया है। 

लोक परीक्षा कानून को 21 जून से ही लागू करना केंद्र की इसी कवायद की एक कड़ी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *